Interviews

अपनी पहली फ़िल्म ‘बा बा ब्लैक शीप’ में कुछ अलग दिखाएंगे विश्वास पांड्या

आपने भी बचपन में “बा बा ब्लैक शीप” कविता तो जरूर पढ़ी होगी. इसी टाइटल ‘बा बा ब्लैक शीप’ से निर्देशक विश्वास पांड्या ने एक फिल्म बनाई है, 23 मार्च को सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही है. फिल्म में मनीष पॉल, अनुपम खेर, अन्नू कपूर और केके मेनन अहम भूमिकाओं में हैं. आपको बता दें, अभिनेता विश्वास पांड्या अब निर्देशक बन गए हैं और पहली ही कॉमेडी फिल्म बा बा ब्लैक शीप में अभिनय की दुनिया के तीन महारथी अनुपम खेर, अन्नू कपूर और केके मेनन को लेकर आ रहे है. यह फ़िल्म रिलीज़ से पहले ही चर्चा में आ गयी है.

फिल्मिनिज़्म से खास बातचीत में निर्देशक विश्वास पांड्या ​कहते हैं, ‘इस फ़िल्म में अनुपम खेर और अन्नू कपूर ने ज़बरदस्त काम किया है, साथ ही, केके मेनन को एक अलग अंदाज व अवतार में देखना दर्शकों के लिए एक अलग तरह का रोचक अनुभव रहेगा. फिल्म को लेकर उत्साहित और रोमांचित विश्वास पांड्या ने कहा, इन तीनों कलाकारों की कॉमिक टाइमिंग और डायलॉग डिलीवरी गजब की है, जो फिल्म को अलग स्तर पर लेकर जाती है. फिल्म के नाम के बारे में पूछे जाने पर राइटर व डायरेक्टर पंड्या ने बताया कि फिल्म में हीरो का नाम बाबा है और फिल्म में जितने भी कैरेक्टर हैं वो सब ब्लैक (बुरे) हैं, इसलिए मैंने सोचा कि क्यों ना फिल्म का नाम बाबा ब्लैक शीप रखा जाए. उन्होंने बताया कि फिल्म में मनीष एक ऐसे नाकारा बेटे के किरदार में हैं, जो दिन भर घर में पड़ा रहता है और कुछ खास काम नहीं करता. उनसे आजिज आकर उनकी मां उन्हें और कोई काम नहीं करने वाले उनके पिता को जब बुरा-भला सुनाती हैं तो मनीष परेशान हो जाते हैं. एक दिन मनीष के पिता का किरदार निभा रहे अनुपम खेर उन्हें बताते हैं कि असल में वह एक कॉन्ट्रैक्ट किलर हैं और यह उनका पुश्तैनी काम है. मनीष लोगों को मारने के इस पेशे को चुनने से इनकार कर देते हैं लेकिन उनके पिता उन्हें किसी तरह राजी कर लेते हैं. आगे क्या होता है यही फिल्म की कहानी है. विश्वास पांड्या कहते हैं कि अनुपम खेर व के के मेनन जैसी शख्शियत के साथ ही पहली फ़िल्म में काम कर मज़ा आया. इन मंझे कलाकारों को डायरेक्ट करना बहुत ही टफ काम है, फिर कभी फील नहीं होने दिया कि यह मेरी पहली फ़िल्म है. यह फ़िल्म एक अलग थीम पर बनाई गई है, जो दर्शकों को बहुत पसंद आएगी.

विश्वास पांड्या कहते हैं कि मुझे बचपन से ऐसी फिल्मों का शौक रहा है, हां पर ये नहीं पता था कि एक दिन इसी थीम पर खुद ही फ़िल्म बनाऊंगा. उन्होंने बताया कि मैंने कोशिश की है ऐसी फिल्म बने जो दर्शकों को देखने समय बोर भी न करे और देखने के बाद भी इसपर बात करने को मजबूर करे. इस शुक्रवार यह फ़िल्म रिलीज़ हो रही है और देखना है यह लोगों को कितनी पसंद आती है. हालांकि फिल्म तो रिलीज़ होने से पहले से ही चर्चा में है और फ़िल्म क्रिटिक को भी लग रहा है कि यह दर्शकों को जरूर इंटरटेन करेगी.

Share Now !

Have your say